29 जून 2011

मैं तो तैयार हूं... पर

बयान : मैं निजी रूप से लोकपाल के दायरे में आने को तैयार हूं. पर मेरी निजी राय का कोई मतलब नहीं है. यह फैसला मंत्रिमंडल को करना है.  -डॉक्‍टर मनमोहन सिंह, प्रधानमंत्री
मनमोहन सिंह. फाइल फोटो
तड़का : अगर मेरी निजी राय मानी जाती तो इतना हल्‍ला ही नहीं होता, जितना कि अब हो रहा है. 

8 टिप्‍पणियां:

  1. p.m shab aap hi bacha lo desh ko barshtachar se..nahi to lutiya dubne main kuch hi time baki h

    उत्तर देंहटाएं
  2. आपकी पोस्ट आज के चर्चा मंच पर प्रस्तुत की गई है
    कृपया पधारें
    चर्चा मंच

    उत्तर देंहटाएं
  3. 1- mai niji taur par......Baqi to soniyamma jaanen..........!

    2-tumhri to jaldi chhutti ho jayegiii......desh ka kya hogaaa...manmohan pyare...desh ka kya.......

    उत्तर देंहटाएं
  4. waise main sahmat nahi hoon...malkhan singh iss baar....
    wastav me lokpal ke andar PM ka post nahi aana chahiye...aur PM ka post ka matlab Manmohan singh nahi hai.........

    उत्तर देंहटाएं